दूध न देने पर युवक को बनाया बंधक, बचाने गई मां की हत्या, ग्रामीणों में आक्रोश 

दूध न देने पर युवक को बनाया बंधक, बचाने गई मां की हत्या, ग्रामीणों में आक्रोश 

अलवर। बानसूर में 50 वर्षीय महिला की हत्या की खबर सामने आई है। बताया जा रहा है कि दूध बेचने वाले युवक को उसके कारोबारी साथियों ने रविवार रात नौ बजे अगवा कर लिया, बाद में जब युवक की मां को अपहरण की जानकारी मिली तो उसने ग्रामीणों के साथ मिलकर अपने बेटे को घर से छुड़ाने का प्रयास किया। इसी दौरान आरोपी ने महिला के सिर पर वार कर दिया, जिससे उसकी मौके पर ही मौत हो गई। जानकारी के अनुसार बानसूर के नया नगर गांव निवासी कालूराम सैनी दूध बेचने का काम करता था। आरोपी राम सिंह, मुखाराम, पप्पू, प्रदीप उसके घर से दूध लेते थे। पीड़ित कालू राम ने बताया कि इन लोगों ने दूध की कमी बताकर मुझसे दूध की कीमत को लेकर विवाद किया था, जिसके बाद उसने आरोपी को दूध देना बंद कर दिया था।
पीड़िता ने बताया कि इस मामले को लेकर बीती रात करीब नौ बजे आरोपियों ने उसे बात करने के लिए बुलाया और अपहरण कर लिया। एक दुकान के तहखाने में बंद कर पीड़ित के साथ मारपीट शुरू कर दी। परिजनों को सूचना मिली तो मां, पत्नी व गांव के लोग मौके पर पहुंचे और पीड़ित को इन लोगों से बचाया गया। गांव की तरफ से सुलह के बाद गांव वाले जैसे ही निकले तो वे भी अपने घरों को जा रहे थे। इसी दौरान आरोपी ने उसकी 50 वर्षीय मां केसरी देवी पर पीछे से धारदार हथियार से हमला कर दिया, जिससे उसकी मौके पर ही मौत हो गई। घटना की सूचना पर बानसूर पुलिस मौके पर पहुंची और मामले की जांच की। आरोपी रामसिंह गुर्जर, मुखराम गुर्जर बास दयाल गांव के रहने वाले हैं और पप्पू, प्रदीप अजबपुरा गांव के मलेरा निवासी हैं। इस बीच मृत महिला के शव को दोपहर 12 बजे बानसूर मोर्चरी में रखवाया गया। फिलहाल शव का पोस्टमॉर्टम किया जा रहा है।