बहुचर्चित गणेश गुप्ता हत्या काण्ड का पर्दाफाश

हत्या में शामिल चार आरोपी गिरफ्तार, लूट के इरादे से की गई थी हत्या

बहुचर्चित गणेश गुप्ता हत्या काण्ड का पर्दाफाश

करौली। 

करौली के मेला मैदान स्थित अपनी दुकान पर नौकर को खाने पहुचाने जा रहे व्यापारी की लूट के इरादे से हत्या मामले में आखिर पुलिस को सफलता मिल गई। पुलिस ने वारदात में शामिल चार आरोपियों को गिरफ्तार किया है। पुलिस अधीक्षक करौली शैलेन्द्रसिंह इन्दौलिया ने बताया कि दिनांक 16 मार्च को रात्रि के समय करीब 9 बजे मेला मैदान स्थित अपनी दुकान पर नौकर को खाने पहुचाने जा रहे व्यापारी की लूट के इरादे से थैले में बडी रकम होने की सम्भावना से व्यापारी गणेष गुप्ता की अज्ञात लुटेरो द्वारा पीट-पीटकर हत्या कर दी गई थी। उक्त घटना का साईबर सैल करौली तथा थानाधिकारी कोतवाली करौली एवं थानाधिकारी सदर करौली द्वारा पर्दाफाष करते हुए हत्या में शामिल आरोपी लखन पुत्र धनीराम जाति जाटव निवासी नथुआ नगर थाना कोतवाली करौली, ओम पुत्र मुनेष जाति मीना निवासी नारायणा थाना मासलपुर, राहुल पुत्र भरोसी जाति कोली निवासी हिण्डौन गेट बाहर हॉस्पिटल के पीछे नगर कॉलोनी थाना कोतवाली करौली एवं रवी पुत्र दयाल जाति माली निवासी केषवपुरा थाना कोतवाली करौली को गिरफ्तार करने में सफलता हांसिल की है। 

घटना का विवरण- दिनांक 16.03.2022 को थाना कोतवाली करौली पर परिवादी आषीष कुमार पुत्र गणेष लाल गुप्ता निवासी कोटे महौली ने हाल निवासी झील का हार तीन बड करौली थाना कोतवाली करौली ने एक रिपोर्ट इस आष्य की पेष की कि मेरे पिता श्री गणेषलाल गुप्ता पुत्र स्व. सीताराम गुप्ता निवासी कोटे महौली हाल निवासी झीलकाहार तीन बड करौली ने आज से करीब 3-4 दिन पहले करौली के मैले में किराने की दुकान लगाई थी, आज शाम को करीब 7-8 बजे दुकान बंद कर मैं और मेरे पिताजी और मेरी दो छोटी बहिन घर पर चले गये, दुकान पर नौकर अषोक सैनी को रखवाली के लिए छोड गये थे। घर जाकर हम लोगो ने खाना खाया रात्रि 9 बजे मेरे पिताजी गणेषलाल गुप्ता नौकर अषोक सैनी को खाने का टिप्पन देने के लिए मैला गेट बाहर दुकान पर गये थे। मेरे पास समय 09ः24 पर अषोक सैनी का फोन आया कि मेरा खाना लेकर अंकलजी अभी तक नहीं आये है तो मैने कहा कि वो घर से पैदल गये है थोडी देर में पहुंच जायेगें, उसके बाद रात्रि के समय 10.08 बजे मेरे पिताजी के फोन से सरकारी अस्पताल करौली से सूचना मिली कि आपके पिताजी के साथ दुर्घटना हो गई है जो हॉस्पिटल में गम्भीर हालात में भर्ती है आप तुरन्त हॉस्पिटल आईये इस पर मैं थोडी देर हॉस्पिटल पहुंचा जहॉ पर मुझे पता चला कि किन्ही अज्ञात व्यक्तियों ने मेला गेट के बाहर रास्ते में मेरे पिता पर हमला कर मारपीट कर घायल कर दिया है जिन्हे डाक्टर ने मृत घोषित कर दिया है मेरे पिताजी की लाष सामान्य चिकित्सालय के मुर्दाघर में रखी हुई है मेरे पिता के हत्या करने वाले अज्ञात व्यक्तियों के विरूद्व मुकदमा दर्ज कर कानूनी कार्यवाही करें। आदि पर प्रकरण संख्या 110/22 धारा 302 भा.द.स. दिनांक 17.03.2022 को थाना कोतवाली करौली पर पंजीबद्व किया गया।

घटना की गम्भीरता- पुलिस अधीक्षक करौली श्री शैलेन्द्रसिंह इन्दौलिया द्वारा प्रकरण को गम्भीरता को लेते हुए स्वयं के सुपरवीजन में अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक करौली श्री कृष्णचन्द यादव, वृत्ताधिकारी करौली श्री मनराज मीणा के नेतृत्व में थानाधिकारी कोतवाली करौली श्री रामेष्वर दयाल मीना व थानाधिकारी सदर करौली अमित कुमार उपनिरीक्षक, साईबर सैल करौली एवं चुनिन्दा पुलिसकर्मियों की अलग अलग टीमों का गठन किया जाकर सी.सी.टी.वी. तकनीकी, एवं फील्ड आ-सूचना तथा वैज्ञानिक तकनीकी के टास्क प्रदान कर प्रकरण का शीघ्रातिषीघ्र खुलासा कर आरोपियों की गिरफ््तार करने के निर्देष दिये गये। 

वारदात करने का तरीका- आरोपीगण के विरूद्व पूर्व में ही लूट, उद्यापन व मोबाईल लूट के प्रकरण दर्ज है तथा पूर्व से समाजकंटकों तथा अपराधियों से सम्पर्क रहा है। जिसके कारण यह लोग भी अपनी अनैतिक आवष्यकताओं, बुरी आदतो की पूर्ति करने के लिए अपराध करने लग गये थे। करौली में मेला मैदान में मेला का आयोजन हो रहा था, चूकि होली का त्यौहार होने के कारण आरोपीगणों को पैसो की अत्यधिक आवष्यकता होने से किसी बडी वारदात को अंजाम देने की योजना बनाई तथा वारदात को अंजाम देने की फिराक में यह लोग सुबह से ही घूमने लग गये थे। दिनांक 16.03.2022 को साय के करीब 07.00 बजे के लगभग मृतक गणेष लाल गुप्ता अपनी दुकान को बंदकर रखवाली हेतु नौकर को छोडकर अपने पुत्र के साथ घर चला गया। मृतक गणेषलाल गुप्ता अपने नौकर अषोक सैनी को खाना लेकर रात्रि के 9 बजे के करीब मेला गेट स्थित अपनी परचून की दुकान पर आ रहा था जैसे ही मेला गाउण्ड के पास तीन दरवाजा करौली पहुंचा तो उक्त आरोपीगणों की नजर गणेषलाल गुप्ता पर पडी और हाथ में थैला होने के कारण आरोपियों में और अधिक लालच हो गया कि यह व्यक्ति दिनभर की दुकान की बिक्री के पैसे लेकर के जा रहा है तथा लूट करने के आष्य से हमला कर मारपीट करने लग गये। मृतक द्वारा विरोध करने पर चारो व्यक्तियों द्वारा गम्भीर रूप से लाठी डण्डों से मारपीट कर थैले को लूट कर ले गये और गणेषलाल गुप्ता की मौके पर ही मृत्यु हो गई 

गठित पुलिस टीमें - पुलिस अधीक्षक करौली श्री शैलेन्द्रसिंह इन्दौलिया द्वारा हत्या का त्वरित पर्दाफाष करने के लिए तथा अलग-अलग पहलुओं पर जॉच करने हेतु निम्न पुलिस टीमों का गठन कर आवष्यक दिषा निर्देष प्रदान किये गये। 

प्रथम टीम- संदिग्धो तथा आदतन अपराधियों, सजायाप्ता व पूर्व में लूट, डकैती, हत्या के प्रकरणों में शामिल लोगों से गहनता से पूछताछ करना व रंजिष या पारिवारिक पृष्ठ भूमि- 
टीम के सदस्य- श्री रामेष्वर दयाल मीना पुलिस निरीक्षक थानाधिकारी कोतवाली करौली मय टीम

द्वितीय टीम- सी.सी.टी.वी कैमरो की चैकिंग व लूट के दृष्टिकोण से जॉच- 
टीम के सदस्य- श्री अमित कुमार उप निरीक्षक थानाधिकारी सदर करौली मय टीम। 

तृतीय टीम- आ-सूचना संकलन हेतु टीम - 
टीम के सदस्य- श्री चन्द्र हुसैन सहायक उप निरीक्षक थाना कोतवाली करौली मय टीम।  

चतुर्थ टीम- पूछताछ एवं धरपकड हेतु टीम- 
टीम के सदस्य- श्री रविन्द्रसिंह हैड कानि. 1565 मय जिला स्पेषल टीम। 

पंचम टीम- डोर-टू-डोर सर्वे व तकनीकी कार्य हेतु टीम- 
टीम के सदस्य- श्री घनष्याम सहायक उप निरीक्षक प्रभारी साईबर सैल करौली मय टीम। 

टीम द्वारा किये गये प्रयास- गठित पुलिस टीमों द्वारा आपसी समन्वय स्थापित कर, दिन-रात कडी मेहनत कर घटना में लिप्त संदिग्धों को नवीनतम तकनीकी विधियों के आधार पर चिन्हित कर घटना के सम्बंध मंे आरोपियों से कडाई से पूछताछ की गई तो आरोपीगण 1. लखन पुत्र धनीराम जाति जाटव निवासी नथुआ नगर थाना कोतवाली करौली 2. ओम पुत्र मुनेष जाति मीना निवासी नारायणा थाना मासलपुर 3. राहुल पुत्र भरोसी जाति कोली निवासी हिण्डौन गेट बाहर हॉस्पिटल के पीछे नगर कॉलोनी थाना कोतवाली करौली 4. रवी पुत्र दयाल जाति माली निवासी केषवपुरा थाना कोतवाली करौली द्वारा लूट के आष्य से मृतक गणेष लाल गुप्ता की हत्या कारित करना स्वीकार किया गया।