सरकारी अस्पतालों में अब मरीजों को मिलेंगी बेहत्तर सुविधा, अस्पतालों में बनेगा इमरजेंसी प्रोक्योरमेंट सेल

सरकारी अस्पतालों में अब मरीजों को मिलेंगी बेहत्तर सुविधा, अस्पतालों में बनेगा इमरजेंसी प्रोक्योरमेंट सेल

जयपुर। राजस्थान में मरीजों को अब सरकारी अस्पतालों में बेहत्तर सुविधा मिलेंगी। राजस्थान में सरकारी अस्पताल में दवाओं के लिए मरीज व परिजन को अब भटकना नहीं पड़ेंगा। इसके लिए सरकारी अस्पतालों में इमरजेंसी प्रोक्योरमेंट सेल बनाया जाएगा। इसका काम निशुल्क दवा योजना को मरीजों के लिए बेहत्तर बनाने के लिए किया जा रहा है। आपको बता दें कि सीएम अशोक गहलोत ने निशुल्क दवा योजना की शुरूआत कर प्रदेश के मरीजों को चिंरजीवी योजना का लाभ दे रहें है।
राजस्थान में सरकारी अस्पतालों के निःशुल्क दवा योजना के काउंटर पर यदि दवाएं उपलब्ध नहीं होगी, तो अस्पताल के इमरजेंसी प्रोक्योरमेंट सेल की जिम्मेदारी होगी कि वह मरीज के लिए अनुपलब्ध दवाएं मुहैया कराएं। सरकारी अस्पताल के प्रोक्योरमेंट सेल की जिम्मेदारी होगी कि वह मरीजों को अस्पताल से बाहर दवा नहीं लेने देवे। वरिष्ठ चिकित्सकों की मॉनिटरिंग में इमरजेंसी प्रोक्योरमेंट सेल संचालित होगी। जयपुर के सवाई मानसिंह अस्पताल में फैली अव्यवस्था की जानकारी सीएम गहलोत को मिलने के बाद अब स्वास्थ्य विभाग हरकत में आया है।
सीएम अशोक गहलोत ने इस बार के बजट में चिंरजीवी योजना का दायरा 5 लाख से बढ़ाकर 10 लाख कर दिया है। इसके अलावा सरकारी अस्पतालों में ओपीडी और आईपीडी को निशुल्क करने के साथ सीटी स्क्रैन सहित कई जांच सुविधाओं को भी निशुल्क कर दिया है। ऐसे में अब सीएम गहलोत निरोग राजस्थान के सपने को पंख लगाना शुरू हो गया है।