महिला दिवस पर पहली बार महिला ऑटो यूनियन का निर्माण 

- यूनियन में पदाधिकारी और सदस्य सभी महिला ऑटो चालक, नजमा मंसूरी को बनाया गया यूनियन का अध्यक्ष, दूसरी महिलाओं को भी देंगी ट्रेनिंग

महिला दिवस पर पहली बार महिला ऑटो यूनियन का निर्माण 

कोटा। महिला दिवस के इस मौके पर पहली बार कोटा शहर में महिला ऑटो यूनियन का निर्माण किया गया है। खास बात ये है कि इस यूनियन में पदाधिकारी और सदस्य सभी महिला ऑटो चालक है। एसा बताया जा रहा है कि ये देश की पहली महिला ऑटो यूनियन है। महिला दिवस पर यूनियन की कार्यकारिणी की घोषणा की गई। जिसमें नजमा मंसूरी को अध्यक्ष बनाया गया है।
कोटा ऑटो यूनियन के संयोजक अनीस राइन ने कार्यकारिणी की घोषणा की। दरअसल कोटा में कई महिलाएं लंबे समय से ऑटो चला रहीं है। इन महिलाओं को कोटा ऑटो यूनियन की तरफ से ट्रेनिंग दी गयी। अभी कोटा में 18 महिलाएं ऐसी हैं जो ऑटो चलाती है। ऐसे में अब इनकी खुद की कार्यकारिणी बना दी गई है और यूनियन तैयार कर दी गई है ताकि अब महिलाएं अपने स्तर पर ही अपनी यूनियन चलाएं। साथ ही अगर कोई महिला ऑटो चलाना चाहती है तो उसको ट्रेनिंग भी अब यह महिला ऑटो यूनियन ही देगी। महिला ऑटो यूनियन का नाम सावित्री बाई फुले एवं फतिमा शेख महिला ऑटो यूनियन रखा गया है। यह नाम उन 2 महिलाओं के नाम पर रखा गया है, जिन्होंने शिक्षा के लिए काफी कुछ प्रयास किए। 
यूनियन की पहली अध्यक्ष नाजिमा मंसूरी ने बताया कि महिलाएं किसी भी क्षेत्र में पीछे नहीं है। महिलाएं आज किसी भी परेशानी का डटकर मुकाबला कर सकती है। हम महिलाओं को भी कई परेशानियां थी, लेकिन हमने उनका मजबूती के साथ सामना किया और आज अपने पैरों पर खड़ी है और ऐसे ही अगर कोई महिला परेशान है तो हम उसकी मदद के लिए हमेशा तैयार हैं।