टोल मुक्त करने की मांग को लेकर कामधेनु सेना व ग्रामीणों का धरना

टोल मुक्त करने की मांग पर बनी सहमति कामधेनु सेना के प्रयास से 22 गांवों को किया टोल मुक्त

टोल मुक्त करने की मांग को लेकर कामधेनु सेना व ग्रामीणों का धरना

नागौर। जिले की डीडवाना रोड पर स्थित रोल ग्राम के टोल नाके द्वारा आस-पास के गांव वालों से टोल वसुली को लेकर पुलिस प्रशासन को सूचना देकर कामधेनु सेना के राष्ट्रीय अध्यक्ष दिपेन्द्रसिंह राठौड़ व जायल तहसील अध्यक्ष सुरेन्द्रसिंह भाटी के नेतृत्व में जनहितार्थ मुद्दे को देखते हुए कामधेनु सेना व आस-पास के ग्रामीणों ने शनिवार को धरना दिया था।

कामधेनु सेना व ग्रामीणों की मांग पर टोल कर्मियों ने सहज भाव से 22 गांवों को टोल मुक्त करना स्वीकर करते हुए लिखित में दिया। जिसमें जायल तहसील के रोल, डिडिया कलां, डिडिया खुर्द, छावटा कलां, छावटा खुर्द, टांगला, टांगली, रूणिया, बुगरड़ा, मांजरा, रातंगा, खंवर, सुरजनियावास, खेतलाव, ईनाणा, रूपासर, बांदरे की ढाणी, खेरवाड़ा, गगवाना, बासड़ा, साडोकन, सोमणा इत्यादि गांवों को टोल मुक्त किया गया। इससे बीमार गोवंश को उपचार हेतु लाने-ले जाने में भी गोसैनिकों व गोपालकों को भी राहत मिलेगी। इस मौके पर पुलिस प्रशासन से शिवनारायण, टोल प्रशासन की ओर से रामवतार खर्रा (मैनेजर), जगदीश (सुपरवाईजर), कामधेनु सेना की ओर से राष्ट्रीय अध्यक्ष दिपेन्द्रसिंह राठौड़, जायल तहसील अध्यक्ष सुरेन्द्रसिंह भाटी, अखिल भारतीय किसान सभा के जिलाध्यक्ष अर्जुनराम लामरोड के बीच शांतिपूर्ण मांग पर सहमति बनी है। इस हेतु सभी ग्रामवासियों व कामधेनु सैनिकों को टोल कर्मियों का धन्यवाद ज्ञापित किया। इस मौके पर ओमप्रकाश भाटी, मंगनीराम भाटी, रामूराम जांगू, दिनेश रावल, राधाकिशन भांबु, भीखाराम गगंवाना, पूसाराम इत्यादि उपस्थित थे।