रूस-यूक्रेन वॉर : यूक्रेन की जमीन पर रूसी टैंक, पीएम मोदी से लगाई मदद की गुहार

- भारत ने युक्रेन में फंसे अपने लोगों के लिए जारी किए हेल्पलाइन नंबर 

रूस-यूक्रेन वॉर : यूक्रेन की जमीन पर रूसी टैंक, पीएम मोदी से लगाई मदद की गुहार

नई दिल्ली। रूस के हमले के बीच यूक्रेन ने भारत से मदद मांगी है। यूक्रेन के राजदूत ने पीएम नरेंद्र मोदी से हस्तक्षेप करने की गुजारिश की है। यूक्रेन के राजदूत इगोर पोलखा ने कहा कि भारत और रूस के संबंध अच्छे हैं। नई दिल्ली (भारत) यूक्रेन-रूस विवाद को कंट्रोल करने में अहम योगदान दे सकता है। हम पीएम नरेंद्र मोदी से गुजारिश करते हैं कि वह तत्काल रूस के राष्ट्रपति पुतिन और हमारे राष्ट्रपति वलोडिमिर जेलेंस्की से संपर्क करें। यूक्रेन-रूस विवाद पर भारत के रुख की बात करें तो वह अबतक न्यूट्रल रहा है। मतलब भारत अभी तक युद्ध या गतिरोध में किसी की तरफ नहीं है। विदेश मंत्रालय की तरफ से गुरुवार सुबह भी कहा गया कि भारत का स्टैंड इस जंग पर न्यूट्रल है और उनको शांतिपूर्ण समझौते की उम्मीद है।


यूक्रेन में बिगड़ते हालातों के बीच भारत ने वहां मौजूद लोगों के लिए नई एडवाइजरी भी जारी की है। इसमें कहा गया है कि स्थिति अभी खराब है, ऐसे में जहां हैं, वहीं रहें। लोगों से अपने घरों, हॉस्टल आदि में ही रुकने को कहा गया है। साथ ही कहा गया है कि जो लोग यूक्रेन की राजधानी कीव या वेस्टर्न कीव की तरफ गए हैं तो वापस अपने घरों की तरफ लौट जाएं। इसके साथ-साथ यूक्रेन में रहने वाले छात्रों के लिए केंद्र सरकार ने हेल्पलाइन नंबर जारी कर दिए हैं। इसके साथ-साथ वहां फंसे लोग दी गई वेबसाइट पर भी मदद मांग सकते हैं। विदेश मंत्रालय का दिल्ली में मौजूद कंट्रोल रूम अब 24×7 काम करेगा। यहां से यूक्रेन में फंसे भारतीय स्टूडेंट्स, नागरिकों की मदद की जाएगी।